• वारदात में शामिल पांचों आरोपी पकड़े गए

झारखण्ड/साहेबगंज : ज़िले के रांगा थाना क्षेत्र अंतर्गत लखीमपुर गांव में नाबालिग की हत्या के बाद गैंगरेप की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा दिया है।

आज पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा ने बताया कि 12 अक्टूबर की शाम पुलिस को सूचना मिली कि रांगा थाना क्षेत्र अंतर्गत लखीमपुर तियू टोला में एक नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप कर उसकी हत्या कर शव को दफना दिया गया है। इस संबंध में लड़की के सहेली की सूचना पर रांगा थाना में संबंधित धाराओं के तहत कर मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (एसडीपीओ) प्रमोद कुमार मिश्रा के नेतृत्व में मामले की छानबीन शुरू की गई। जांच के क्रम में पता चला कि दो बच्चियां अपने दोस्तों से मिलने के लिए 7 अक्टूबर को गई थी और 2 दिन बाद दोनों बच्चियां वापस अपने घर आ रही थी। इसी क्रम उनके ही गांव के पांच लड़कों उन्हें रोक लिया। इस दौरान एक बच्ची भागने में सफल रही जबकि दूसरी बच्ची को उन लोगों ने पकड़ लिया और फिर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया।

गैंगरेप के दौरान ही पीड़िता की मौत हो गई जिसके बाद आरोपियों ने नाबालिग के शव को उसके ही घर के छज्जे पर रख दिया गया। उधर, शव मिलने के बाद परिजनों ने दफना दिया। पुलिस को सूचना मिलने के बाद जांच के क्रम में उक्त पीड़िता के शव को दंडाधिकारी के आदेश से मंगलवार को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए साहिबगंज सदर अस्पताल लाया गया।

इसके बाद जांच के लिए पीएमसीएच धनबाद भेजा गया। वारदात में शामिल पांचों आरोपी नाबालिग एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने बताया कि गैंगरेप और हत्या मामले में शामिल पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस अधीक्षक ने दावा किया कि पांचों आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। मामले में सभी पकड़े गए आरोपी नाबालिग हैं जिन्हें जुवनाइल कोर्ट में पेश करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि घटना की जानकारी सोमवार को मीडिया में आने के बाद पुलिस हरकत में आई पुलिस हरकत में आई। जिला प्रशासन से दंडाधिकारी नियुक्त होने के बाद शव को कब्र से निकालकर जांच पड़ताल की गई। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

  • 12 घंटे में दुष्कर्मी सलाखों के पीछे हैं: विधायक प्रतिनिधि

रांगा थाना क्षेत्र के लखीपुर गांव में गैंगरेप और हत्या मामले में स्थानीय विधायक हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा ने बयान जारी कर कहा है कि पुलिस ने 12 घंटे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार कर एक मिसाल कायम किया है। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार में अपराध और अपराध कर्मियों के लिए कोई जगह नहीं है। इस घटना में आरोपियों की गिरफ्तारी पुलिस की बड़ी सफलता है। उन्होंने विपक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि दुष्कर्म और हत्या जैसे अपराध में भी विपक्ष के नेता बाबूलाल मरांडी राजनीति कर रहे हैं।

हेमंत सोरेन सरकार में जिस अपराध के लिए 12 घंटे में कार्रवाई हुई है। वहीं भाजपा शासित उत्तर प्रदेश के हाथरस में न्याय के लिए पीड़ित अभी परेशान हैं। जबकि साहिबगंज की घटना में बिना किसी दबाव के निष्पक्ष तरीके से आरोपियों की गिरफ्तारी कर पुलिस ने सलाखों के पीछे भेजा है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता केवल घड़ियाली आंसू बहाते हैं। विधायक प्रतिनिधि ने कहा कि हाथरस कांड में पीड़ित परिवारों को पीड़िता का चेहरा भी नहीं देखने को मिला। जबकि साहिबगंज की पुलिस ने कब्र से लाश को निकाल कर जांच करवा कर पीड़ित परिवार को शव सौंप दिया है। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार से भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री को सीख लेनी चाहिए कि अपराध के प्रति किस प्रकार जीरो टॉलरेंस की नीति हेमंत सोरेन सरकार की है।

  • शीघ्र ही राज्य सरकार द्वारा पीड़ित परिवारों को सरकारी प्रावधान के तहत सहायता प्रदान की जाएगी

सरकार ने इसका आदेश कर दिया है, शीघ्र ही राज्य सरकार द्वारा पीड़ित परिवारों को सरकारी प्रावधान के तहत सहायता प्रदान की जाएगी। विपक्षी दलों के नेताओं को चुनौती देते हुए मिश्रा ने कहा कि पीड़ित परिवार से मिल ले उन्हें किसी प्रकार की कोई शिकायत सरकार से नहीं है।

  • भाजपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इस्तीफे की मांग की

गैंगरेप और हत्या के खिलाफ भाजपा ने किया मुख्यमंत्री का पुतला दहन, मांगा इस्तीफा जिले के रांगा में हुए आदिवासी लड़की के साथ दुष्कर्म कर हत्या के विरोध में बुधवार को साहेबगंज भाजपा ने हेमंत सोरेन का पुतला दहन किया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने विरोध जताते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इस्तीफे की मांग की।

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *