सरकारी कर्मियाें काे वेतन भी देने के लिए पैसे नहीं

0
  • मुख्यमंत्री ने कहा- पिछली सरकार ने खजाना खाली कर दिया

झारखण्ड/राँची : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि पिछली सरकार में डीवीसी के 5000 करोड़ रुपए से अधिक बकाया रह गए थे। वहीं, इससे पहले जब वे मुख्यमंत्री थे ताे डीवीसी का बकाया शून्य कर दिया था।

झारखण्ड के कोयले से पूरी दुनिया में राेशनी हाेती है और यहां की जनता बिजली और पानी के लिए तरसे तो हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। पिछली सरकार की गलतियों का नतीजा है कि राजकीय खजाना खाली हो चुका है। हमारे पास इतने भी पैसे नहीं कि हम सरकारी कर्मियों को वेतन भी दे सकें। हम झारखण्ड को विकसित प्रदेश बनाएंगे।

 

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बेरमो उपचुनाव के लिए बुधवार को जरीडीह प्रखंड के उवि बांधडीह के खेल मैदान में महागठबंधन के उम्मीदवार अनूप सिंह के पक्ष में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

  • अपने बलबूते पर खड़ा होगा झारखण्ड

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब जनता की अपनी सरकार के साथ यह राज्य अपने बलबूते पर खड़ा होगा। इससे पहले रघुवर दास कहते थे कि हमारी डबल इंजन की सरकार है। लेकिन सच यह है कि सरकार में इंजन दो थे, डब्बे गायब थे। कोरोना संक्रमण के दौर में भी केंद्र की भाजपा सरकार ने झारखण्ड के साथ सौतेला व्यवहार किया। अब अगर जरूरत पड़ी ताे केंद्र के साथ दो-दो हाथ करने को भी हम तैयार हैं।

झारखण्ड एक ऐसा निर्धन राज्य है, जहां के लाेग दूसरे प्रांताें में नाैकरी करने के लिए जाते हैं। ताे काेराेना संक्रमण काल में मजदूराें की जिंदगी की रक्षा के लिए उन्होंने हवाई जहाज से लाने का काम किया। हर गांव मोहल्ले में दीदी किचन का संचालन कर तीन से चार माह तक लोगों को खाना खिलाने का काम किया।

  • राजेंद्र बाबू के सपनों को साकार करेंगे

मुख्यमंत्री ने पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह की चर्चा करते हुए कहा कि वे हमारे अभिभावक थे। मजदूरों और गरीबों के नेता थे। आज उनके पुत्र जयमंगल सिंह उर्फ अनूप सिंह यहां का नेतृत्व करने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। वे राजेंद्र बाबू के सपनों को साकार करेंगे।

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *