Haj 2021: हज यात्रा से जुड़ी हर जानकारी जानें, इस तारीख तक कर सकते हैं आवेदन

0

नई दिल्ली : केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बृहस्पतिवार को बताया कि हज-2021 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि को आज 10 दिसंबर से बढ़ा कर 10 जनवरी तक कर दिया गया है और साथ ही हज यात्रियों के अनुमानित खर्च में भी कमी की गई है।

मंत्री के कार्यालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, प्रति तीर्थयात्रीअनुमानित खर्च को रवानगी केन्द्रों के अनुसार कम कर दिया गया है। नकवी ने यह भी कहा कि हज जून-जुलाई 2021 में होना निर्धारित है।कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सऊदी अरब और भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार पूरी प्रक्रिया चल रही है।

 

नकवी ने यहां भारतीय हज कमेटी की बैठक की अध्यक्षता की, जिसके बाद उनके हवाले से जारी बयान में कहा गया है, आज यानी दस दिसंबर हज 2021 के लिये आवेदन का अंतिम दिन था। अब इस तारीख को बढ़ाकर 10 जनवरी 2021 कर दिया गया है।

बयान में कहा गया है कि हज 2021 के लिये अब तक 40 हजार से अधिक आवेदन मिल चुके हैं। इनमें 500 से अधिक वे महिलाएं भी शामिल हैं, जिन्होंने ‘‘मेहरम’’ श्रेणी (पुरुष साथी के बिना हज पर जाना) के तहत आवेदन किया है।

बयान के अनुसार हज 2020 के लिये 2,100 महिलाओं ने इस श्रेणी के तहत आवेदन किया था। उनके आवेदन अभी वैध हैं, इसलिये वे अगले साल हज पर जाएंगी।

 

इसके अलावा इस श्रेणी में नए आवेदन भी स्वीकार किये जा रहे हैं। इस श्रेणी के तहत हज पर जाने की इच्छुक महिलाओं को लॉटरी व्यवस्था से अलग रखा जाएगा। नकवी ने कहा कि सऊदी अरब से फीडबैक मिलने और उसपर चर्चा के बाद प्रति हज यात्री अनुमानित खर्च को रवानगी केन्द्रों से अनुसार कम कर दिया गया है।

हज 2021 पर जाने के लिये 10 रवानगी केन्द्र अहमदाबाद, बेंगलुरू, कोचीन, दिल्ली, गुवाहाटी, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई और श्रीनगर हैं।

हज के लिए आवेदन, ऑनलाइन और मोबाइल एप्प के जरिये एवं ऑफलाइन माध्यम से किये जा रहे हैं।

नकवी ने कहा, ‘‘ रवानगी केन्द्र (इम्बार्केशन प्वाइंट) के अनुसार हज 2021 के खर्च के आकलन एवं सऊदी अरब से प्राप्त फीडबैक के आधार पर प्रति हज यात्री सम्भावित खर्च भी कम किया गया है। वर्तमान आंकलन के मुताबिक, अहमदाबाद और मुंबई रवानगी केन्द्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 30 हजार रूपये; बेंगलुरु, लखनऊ, दिल्ली और हैदराबाद रवानगी केन्द्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 50 हजार रूपये खर्च करने होगे।’’

 

उनका कहना है कि कोच्चि एवं श्रीनगर रवानगी केन्द्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 60 हजार रुपये; कोलकाता रवानगी केन्द्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 70 हजार रूपये और गुवाहाटी रवानगी केन्द्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 4 लाख रूपये प्रति हज यात्री खर्च करना होगा।

नकवी ने कहा, ‘‘ हज 2021 में, कोविड-19 महामारी की वजह से उत्पन्न हालातके मद्देनजर राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय प्रोटोकॉल गाइडलाइन्स का मुस्तैदी से पालन किया जायेगा।’’
मंत्री के मुताबिक, संपूर्ण हज प्रक्रिया, सऊदी अरब की सरकार एवं भारत सरकार द्वारा कोरोना आपदा के मद्देनजर तय किये जाने वाले पात्रता मानदंड, आयु मानदंड, स्वास्थ्य परिस्थिति एवं अन्य जरुरी दिशानिर्देशों के अनुसार हो रही है।

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *