कांग्रेस की मुश्किल बढ़ी, जानें शपथ ग्रहण से पहले किस विवाद में फंसे रेवंत रेड्‍डी?

0

वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और आज तेलंगाना के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे रेवंत रेड्डी ने कहा कि तेलंगाना के पहले मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव में ‘बिहारी जीन’ है और उन्होंने संकेत दिया था कि वह केसीआर की तुलना में राज्य के लिए बेहतर विकल्प हैं।

 

चुनाव से पहले रेड्‍डी द्वारा दिया गया बयान अब चर्चा में है। बयान पर सियासी घमासान मच गया। इससे रेवंत रेड्‍डी ही नहीं बल्कि कांग्रेस और नीतीश कुुुुमार की मुश्किलें भी बढ़ती नजर आ रही है।

 

 

 

मीडिया खबरों के अनुसार, रेड्डी ने कहा कि मेरा डीएनए तेलंगाना का है। केसीआर का डीएनए बिहार का है। वह बिहार के रहने वाले हैं। केसीआर की जाति कुर्मी हैं, वे बिहार से विजयनगरम और वहां से तेलंगाना आए। तेलंगाना का डीएनए बिहार के डीएनए से बेहतर है।

 

 

उल्लेखनीय है कि बिहार में कांग्रेस नीतीश कुमार सरकार में सहयोगी है। ऐसे में इस बयान ने नीतीश कुमार और कांग्रेस दोनों को ही असमंजस में डाल दिया है।

 

 

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने तेलंगाना के भावी मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी की ‘बिहार-डीएनए टिप्पणी’ के लिए आलोचना की और उनकी टिप्पणी को राज्य के ‘लोगों का अपमान’ करार दिया।

 

 

बिहार की उजियारपुर संसदीय सीट से सांसद राय ने कहा कि रेड्डी की ‘बिहार डीएनए’ टिप्पणी कांग्रेस नेताओं की मानसिकता को उजागर करती है, जो जाति और पंथ के नाम पर समाज में विभाजन पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं।

 

 

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी कहा कि यह उत्तर भारतीयों का अपमान है। कांग्रेस की सोच देश को बांटने वाली है। भारत और भारतीयों को नीचा दिखाने में कांग्रेस कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

AriansRopsy

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed