एसबीआई खाताधारक आज नहीं कर पाएंगे नेट बैंकिंग ट्रांजेक्शन

0



देश के सबसे बड़ी सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने खाताधारकों को अलर्ट किया है। बैंक ने ट्वीट कर सभी खाताधारकों को इसकी जानकारी दी है। बैंक की यह खबर खासकर उन खाताधारकों के लिए है, जो नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं। बैंक ने नेट बैंकिंग यूजर्स को अलर्ट करते हुए कहा है कि 8 नवंबर को बैंक की नेट बैकिंग सेवा प्रभावित रहेगी।

 

एसबीआई ने खाताधारकों को जानकारी दी है कि नेट बैंकिंग ग्राहकों को ज्यादा बेहतर अनुभव के लिए बैंक अपने इंटरनेट बैंकिंग प्लेटफॉर्म को अपडेट कर रहा है। बैंकिंग सिस्टम को अपडेट करने के चलते लोगों को इस दौरान नेट बैंकिंग के इस्तेमाल में परेशानी आ सकती है।

 

बैंक ने खाताधारकों को पहले से इस बारे में जानकारी दे दी है, ताकि लोग अपनी जरूरत के हिसाब से पहले ही इस नेट बैंकिंग से जुड़े कामों को निपटा सकें और उनका काम बैंक के नेट बैंकिंग सर्विस प्रभावित होने की वजह से न रुके।

 

अपने सिस्टम को बेहतर और आसान बनाने के लिए बैंक इस तरह के अपडेशन करते रहते हैं। जिसमें थोड़ी देर के लिए बैंकिंग सेवाएं प्रभावित होती हैं। ऐसे में बेहतर है कि किसी भी परेशानी से बचने के लिए आप पहले से ही तैयार रहें। अगर कोई जरूरी ट्रांजैक्शन नेट बैंकिंग के जरिए करना है तो पहले से ही कर लें।

 

लोन के फर्जी ऑफर्स से भी किया सचेत

एसबीआई ने फर्जी लोन ऑफर्स को लेकर आगाह किया है। बैंक ने कहा है कि अगर कोई आपको एसबीआई लोन फाइनें​स​ लि. और मुद्रा फाइनेंस लि. की ओर से संपर्क करता है तो जान लें कि हमारी तरफ से ऐसे काेई ऑफर्स नहीं दिए जा रहे हैं। ये फ्रॉड एंटिटी हैं, जो एसबीआई के ग्राहकों को फंसाने के लिए लोन के फर्जी ऑफर दे रही हैं।

 

यह चेतावनी एसबीआई ने ट्वीट के जरिए जारी की है। एसबीआई ने कहा है कि ऐसा हमारी जानकारी में आया है कि कुछ अनजान एसबीआई लोन फाइनें​स​ लिमिटेड और मुद्रा फाइनेंस लिमिटेड के नाम की एंटिटीज की ओर से लोन की पेशकश कर आम जनता को ठगने की कोशिश कर रहे हैं। हकीकत में ये कंपनियां अस्तित्व में नहीं हैं।

 

लोन के लिए बिचौलिए की न लें मदद

बैंक ने कहा है कि आम ऐसी फर्जी कंपनियों को कोई प्रोसेसिंग फीस/रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान न करें। जिन लोगों को लोन की जरूरत है, वे सीधे बैंक की निकटतम शाखा से संपर्क करें. लोन लेने के लिए बिचौलिए का सहारा न लें।

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *