ऑनलाइन क्लासेज के कल्चर से 60 दिन में बढ़े 5.40 लाख नए मोबाइल यूजर

0

 

कोरोना संक्रमण की वजह से प्रदेश में फिलहाल स्कूल, कॉलेज एवं कोचिंग संस्थान अभी तक खुले नहीं है, लेकिन ऑनलाइन पढ़ाई एवं वर्क फ्राम होम के कल्चर से मोबाइल कंपनियों की बल्ले-बल्ले हो गई है। लॉकडाउन की वजह से जहां अप्रैल-मई एवं जून में मोबाइल यूजर्स की संख्या में गिरावट आई थी, जिनमें अब धीरे-धीरे सुधार ही नहीं हो रहा है बल्कि, एक बड़ा उछाल आया है।

 

टेलिकॉम रेगुलेटरी ऑथोरिटी ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि जुलाई-अगस्त में देश भर में 72 लाख से ज्यादा मोबाइल सब्स्क्राइबर्स बढ़े हैं। इनमें से 7.49 फीसदी यानी 5 लाख 40 हजार से ज्यादा राजस्थान से हैं। टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने गत दिनों अगस्त महीने की सब्स्क्राइबर्स रिपोर्ट जारी की है।

 

स्कूल-कॉलेजों में ऑनलाइन पढ़ाई जुलाई से हो रही

  • जून में देश में 114 करोड़ 7 लाख और प्रदेश में 6 करोड़ 43 लाख 71 हजार 279 मोबाइल सब्सक्राइबर थे, लेकिन जुलाई में इसमें तेजी देखी गई।
  • जुलाई में देश भर में 34 लाख 72 हजार 260 और प्रदेश में 2 लाख 42 हजार 400 सब्सक्राइबर बढ़े।

 

यानी राजस्थान के लिहाज से यह बढ़ोतरी 6.98 प्रतिशत की रही। देश में यह संख्या बढ़कर 114 करोड़ 41 लाख हो गई, वहीं प्रदेश में 6 करोड़ 46 लाख 13 हजार 679 हुई।

 

विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना की वजह से स्कूल-कॉलेज एवं कोचिंग संस्थान नहीं खुलने की वजह से ऑनलाइन क्लासेज का कल्चर शुरू हो गया था। मोबाइल सिम खरीदने वालों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई।

 

 

सब्स्क्राइबर्स बढ़ने का सिलसिला जारी
ट्राई की रिपोर्ट के अनुसार सब्स्क्राइबर्स बढ़ने का सिलसिला अगस्त में भी जारी रहा और जुलाई की तुलना में प्रदेश में करीब तीन 50 हजार सब्स्क्राइबर बढ़े। देश में जहां 37 लाख 44 हजार 482 नए सिम एक्टिवेट कराए गए, वहीं राजस्थान में यह आंकड़ा 2 लाख 98 हजार 291 का रहा। यानी देशभर के लिहाज से प्रदेश में 7.96 प्रतिशत नए सब्स्क्राइबर जुड़े।

 

इससे देश में 114 करोड़ 79 लाख से ज्यादा सब्स्क्राइबर हो गए। वहीं, प्रदेश में यह संख्या बढ़कर 6 करोड़ 49 लाख 11 हजार 970 तक जा पहुंची। अनुमान है कि सितंबर-अक्टूबर की रिपोर्ट अभी आना बाकी है और उम्मीद है कि इसमें सब्स्क्राइबर्स और बढ़ेंगे क्योंकि स्कूल-कॉलेज सहित शैक्षणिक संस्थान अभी तक बंद ही हैं।

 

 

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed