• कुल मृतक संख्या 40 पहुंची

देहरादून/तपोवन : उत्तराखंड की आपदाग्रस्त तपोवन सुरंग में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए चलाए जा रहे बचाव अभियान के आठवें दिन रविवार को तड़के दो शव बरामद हो गए। चमोली की जिलाधिकारी स्वाति भदौरिया ने बताया कि सुरंग के अंदर से तड़के दो शव बरामद हुए हैं।

 

 

 

पिछले एक सप्ताह से सेना, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, राज्य आपदा प्रतिवादन बल और भारत तिब्बत सीमा पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से सुरंग में चलाए जा रहे बचाव अभियान के दौरान ये शव बरामद हुए हैं। एनटीपीसी के 520 मेगावाट तपोवन—विष्णुगाड जलविद्युत परियोजना की इस सुरंग में आपदा के समय काम कर रहे 25-35 लोग फंसे हुए हैं।

 

 

रविवार तड़के मिले दोनों शवों की पहचान हो गयी है जिनमें से एक टिहरी जिले के नरेंद्रनगर के रहने वाले आलम सिंह तथा दूसरा देहरादून के कालसी के रहने वाले अनिल का है।

 

 

 

सात फरवरी को चमोली की ऋषिगंगा घाटी में आई बाढ़ में आपदा ग्रस्त स्थानों से अब तक 40 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं जबकि 164 अन्य लोग अभी लापता हैं। इन लापता लोगों में तपोवन सुरंग में फंसे लोग भी शामिल हैं। सात फरवरी को चमोली की ऋषिगंगा घाटी में आई बाढ़ से 13.2 मेगावाट ऋषिगंगा जलविद्युत परियोजना पूरी तरह तबाह हो गई जबकि तपोवन विष्णुगाड परियोजना को भारी क्षति पहुंची है।

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *