जिले में बनेंगे एक हजार मास्टर ट्रेनर, करेंगे जागरूक, बताएंगे गुड टच-बेड टच

0

 

वर्तमान माहौल में महिलाओं व बालिकाओं को सशक्त बनाने व जागरूक करने के लिए अजमेर जिले में एक हजार मास्टर ट्रेनर बनाए जाएंगे। जो उन्हें गुड टच – बेड टच के बारे में बताएंगे। समझ स्पर्श की चुप्पी तोड़ कार्यक्रम के तहत जिला प्रशासन यह मुहिम इनाया फाउण्डेशन तथा श्री सीमेन्ट के सहयोग से चलाएगा। इसके लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है।

 

महिला एवं बाल विकास के उप निदेशक हेमन्त स्वरूप माथुर ने बताया कि इसके अंतर्गत जिले की महिलाओं एवं बालिकाओं को सशक्त करने तथा जागरूकता बढाने के लिए चरणबद्ध तरीके से प्रयास किए जाएंगे। महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्मिकों, शिक्षा विभाग के कार्मिकों, विद्यार्थियों एवं जागरूक जन प्रतिनिधियों को गुड टच व बेड टच (जीटीबीटी) मास्टर ट्रेनर बनाने के लिए ऑनलाईन प्रशिक्षण आयोजित किए जाएंगे।

 

कमेटी का किया गठन

इसके लिए कमेटी का गठन किया गया है। महिला एवं बाल विकास के उपनिदेशक इसके समन्व्यक होंगे। इसके अलावा जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के अतिरिक्त निदेशक तथा सूचना एवं जन सम्पर्क कार्यालय के उप निदेशक सदस्य होंगे।

 

वीसी से होगा प्रशिक्षण

इसके लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से होगा। ग्रामीण क्षेत्रों के ग्राम पंचायत स्तर पर भारत निर्माण सेवा केन्द्र स्थित ईमित्र प्लस से जुडा जाएगा। यहां स्थानीय महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्मिक, राजकीय सीनियर उच्च माध्यमिक विद्यालय की महिला कार्मिक, छात्रा, जन प्रतिनिधि एवं अन्य कार्मिक उपस्थित रहेंगे।

 

एक ट्रेनर 50 को करेगा प्रशिक्षित

जिले में एक हजार से अधिक मास्टर ट्रेनर बनाए जाएंगे। इन्हें 5 दिन का गुड टच एवं बेड टच से संबंधित प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। प्रत्येक प्रशिक्षित मास्टर ट्रेनर की ओर से 50-50 व्यक्तियों के लक्षित समूहों को प्रशिक्षित किया जाएगा। शहरी क्षेत्र में कलस्टर प्रिंसिपल के माध्यम से यह कार्य संपादित होगा।

 

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *