सीएम स्कूल ऑफ़ एक्सीलेंस और आदर्श विद्यालयों में प्रतिनियुक्त 200 लापरवाह शिक्षकों पर विभागीय कार्रवाई करने का निर्देश

0

Made with LogoLicious Add Your Logo App

  • शिक्षकों की उपस्थिति जांचने के लिए एक हफ्ते के भीतर टीम गठित कर स्कूलों का औचक निरिक्षण करने का निर्देश
  • आईसीटी शिक्षकों को तीन माह की मिलेगी ट्रेनिंग

झारखंड/रांची : झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद में स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की मासिक बैठक आयोजित की गयी। बैठक की अध्यक्षता स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्रभारी सचिव श्री उमाशंकर सिंह, माध्यमिक शिक्षा निदेशक श्री उत्कर्ष गुप्ता, प्राथमिक शिक्षा निदेशक श्री शशि प्रकाश सिंह, झारखंड शिक्षा परियोजना सह झारखंड शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के निदेशक श्री आदित्य रंजन ने की।

 

 

महत्वपूर्ण बैठक में लिए गए निर्णय :

1. प्रोन्नति हेतु वरीयता सूची का प्रकाशन नहीं करने पर रांची, लातेहार, पलामू, पूर्वी सिंघभूम, सरायकेला के जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) को शोकॉज जारी करते हुए वेतन रोकने का निर्देश।

2. न्यायिक मामलो में शिथिलता बरतने के मामले में रांची के जिला शिक्षा अधीक्षक (DSE) के विरुद्ध शोकॉज जारी, विभागीय कार्रवाई का निर्देश।

3. मध्याहन भोजन योजना के तहत आयुष्मान कार्ड बनाने में लापरवाही बरतने एवं वृद्धा पेंशन के मामले में पलामू के जिला शिक्षा अधीक्षक (DSE) के विरुद्ध शोकॉज जारी, विभागीय कार्रवाई का निर्देश।

4. राज्यस्तरीय सम्मान समारोह का आयोजन कर बोर्ड परीक्षाओ में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यालयों एवं उनमे पदस्थापित प्राचार्यो/शिक्षकों को पुरस्कृत किया जाएगा।

 

 

5. राज्य में संचालित सभी मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालयों एवं प्रखंड स्तरीय आदर्श विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों पर पदस्थापन एवं प्रतिनियुक्ति की प्रक्रिया अगस्त तक पूरा करने का निर्देश। ई विद्यावाहिनी के माध्यम से शिक्षकों को आवेदन करने का मिलेगा मौका। राज्यस्तरीय चयन समिति करेगी प्रतिनियुक्ति एवं पदस्थापन।

6. 15 जुलाई से पहले हर हाल में उत्कृष्ट विद्यालयों में सौ प्रतिशत नामांकन करा लेना है।

7. शिक्षकों की उपस्थिति जांचने के लिए एक हफ्ते के भीतर जिले के DEO/DSE की अध्यक्षता में टीम गठित कर स्कूलों का औचक निरिक्षण करने का निर्देश। नामंकन में लापरवाही हुई तो टीम की अनुशंसा पर होगी कड़ी कार्रवाई।

 

 

8. बच्चो को ड्रॉपबॉक्स में जाने से रोकने का निर्देश। इसके लिए टोला टैगिंग और स्कूल टैगिंग अनिवार्य रूप से करे।

9. विद्या समीक्षा केंद्र से उपस्थिति का लगातार अनुश्रवण करने का निर्देश।

10. सीएम स्कूल ऑफ़ एक्सीलेंस और आदर्श विद्यालयों में प्रतिनियुक्त 200 लापरवाह शिक्षकों को जिला शिक्षा समिति की बैठक बुलाकर विभागीय कार्रवाई करने का निर्देश।

11. निःशुल्क किताब वितरण का अद्यतन डाटा ई-विद्यावाहिनी में अनिवार्य रूप से अपडेट करे।

12. पोशाक वितरण मामले में निम्न प्रदर्शन करने वाले पांच जिलों (सिमडेगा, रांची, हज़ारीबाग़, खूंटी, लातेहार) के जिला शिक्षा पदाधिकारी को शोकॉज।

13. जून माह के अंत तक विद्यालय प्रबंधन समिति के पुनर्गठन का लक्ष्य पूरा करने का निर्देश।

 

 

 

14. आईसीटी शिक्षकों का हर महीने होगा मूल्यांकन टेस्ट। आईसीटी शिक्षकों को तीन माह की मिलेगी ट्रेनिंग।

15. प्रोजेक्ट इंपैक्ट का लगातार अनुश्रवण होगा। हर माह जिलों का जारी होगा प्रोजेक्ट इंपैक्ट रिपोर्ट कार्ड। 80 मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालयों और 325 आदर्श विद्यालयों का अलग से जारी होगा प्रोजेक्ट इंपैक्ट रिपोर्ट कार्ड। बढ़ेगी विद्यालयों के बीच प्रतिस्पर्धा।

16. स्कूल सर्टिफिकेशन का कार्य शुरू होगा। स्कूलों को तीन श्रेणियों में प्रमाणित किया जाएगा। विद्यालयों को मिलेगा गोल्ड, सिल्वर और ब्रोंज सर्टिफिकेट। शिक्षकों की भी मूल्यांकन व ग्रेडिंग होगी।

17. रेल प्रोजेक्ट के तहत होने वाले मूल्यांकन परीक्षा से संबंधित छात्रों की कॉपी को पूरे वर्ष के लिए संरक्षित रखने का निर्देश। इससे बच्चे का अकादमिक रिकॉर्ड ट्रैक किया जा सकेगा। रेल टेस्ट के दिन विद्यालय में उत्सव सा माहौल बने।

 

 

बैठक में झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के प्रशासी पदाधिकारी श्री जयंत मिश्रा, झारखंड शिक्षा परियोजना के सभी राज्यस्तरीय पदाधिकारियों समेत सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक व ADPO शामिल हुए।

आकाश भगत

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed